Wednesday , September 19 2018
Loading...
Breaking News

IITIANS के ये कारनामें देख दांतों तले उंगलियां दबा लेंगे आप

आईआईटी कानपुर के विद्यार्थी पढ़ाई के साथ कई अन्य गतिविधियों में भी बहुत ज्यादा आगे हैं. विद्यार्थियों के पांच अलग-अलग समूह ने पिछले एक माह के अंदर राष्ट्र की चार ऊंचे  मुश्किल पहाड़ों पर फतह किया है. एक नजर इनके हौसलों के किस्सों पर  Image result for IITIANS

इसमें चार टीम ने उत्तराखंड का दयारा बुग्याल, चंद्रशीला ट्रैक, सिक्किम का गोएचाला ट्रैक  नेपाल का अन्नपूर्णा सैंक्युचरी ट्रैक पर चढ़ाई की तो एक टीम ने न्यू जलपाई गुड़ी से गंगटोक तक की मुश्किल दूरी साइकिल से पूरी की. इसकी दूरी करीब 300 किलोमीटर है. विद्यार्थी गंगटोक से वापसी में भी साइकिल से ही उतरे. अब विद्यार्थी गर्मी की छुट्टियों में कुछ अन्य पहाड़ों पर चढ़ाई की तैयारी में जुट गए हैं. आईआईटी एडवेंचर क्लब के कोआर्डिनेटर महेश बिस्ट  सारंग ने बताया कि अभी पहाड़ों के नाम नहीं तय हुए हैं लेकिन इस बार कुछ ज्यादा ही रोचक किया जाएगा.

Loading...

युकसोम से गोएचाला तक का सफर किया पूरा आईआईटी कानपुर के विद्यार्थी नीतिश कुमार  शुभम गुप्ता की अगुवाई में सात विद्यार्थियों की टीम ने सिक्किम के युकसोम से गोएचाला ट्रैक की ऊंचाईयों तक सफलतापूर्वक चढ़ाई की. शुभम बताते हैं कि इस पहाड़ की ऊंचाई 4949 मीटर है लेकिन रास्ते बहुत ज्यादा मुश्किल हैं. पथरीली पहाड़ों पर चढ़ाई करना बहुत ज्यादा कठिन होता है. बीच में कई दिक्कतें भी आई लेकिन सभी ने इसपर फतह किया.

loading...

नेपाल पहुंच गए आईआईटीयंस महेश बताते हैं कि नेपाल के पठार में 4130 मीटर की ऊंचाईयों पर स्थित अन्नपूर्णा सैंक्युचरी की चढ़ाई बहुत ज्यादा मुश्किलों भरा होता है. पानी की समस्या भी होती है. ऐसे में अरुण कुमार की अगुवाई में यहां टीम ने 27 फरवरी से चढ़ाई शुरु की थी  छह दिनों में इसे पूरा कर लिया. विद्यार्थियों ने इसके लिए पूरे दो माह तैयारी की थी.

मस्ती के बीच पूरी की चंद्रशीला की चढ़ाई उत्तराखंड की चंद्रशीला पीक पर चढ़ाई के लिए सात सदस्यों की टीम का लीडर गुंदीप अरोड़ा को बनाया गया था. महेश बताते हैं कि चंद्रशीला ट्रैक के रास्ते अच्छे होते हैं  बीच-बीच में खाने की सुविधा भी अच्छी होती है. ऐसे में आईआईटीयंस ने बड़े ही मस्ती के बीच 4000 मीटर की ऊंचाई पर चढ़ाई कर ली.

छह दिनों में चढ़े दयारा बुग्याल ट्रैक आईआईटी कानपुर के विद्यार्थी सांकेत मनेरीकर की अगुवाई में विद्यार्थियोंकी एक टीम ने उत्तराखंड की दयारा बुग्याल ट्रैक पर छह दिनों में चढ़ाई पूरी की. यह पहाड़ 3048 मीटर की ऊंचाईयों पर है. चारों तरफ छोटे-छोटे पहाड़ियों से घिरे इस इस ट्रैक का नजारा बहुत ज्यादा खूबसूरत है.

सत्यरुप सिद्घांता ने दिए टिप्स  आईआईटी कानपुर में एडवेंचर क्लब के विद्यार्थियों को पहाड़ों पर चढ़ाई करने के लिए पर्वतारोही सत्यरुप सिद्घांता ने टिप्स दिया. सत्यरुप राष्ट्र के टॉप-10 युवा पर्वतारोहियों में शुमार हैं.उन्होंने अभी तक सात सबसे ऊंचे पर्वतों पर चढ़ाई की है. आईआईटीयंस का हौसला बढ़ाते हुए उन्होंने बोला कि संयम के साथ अगर चढ़ाई करेंगे तो मुश्किलों का सरलता से सामना भी कर पाएंगे. इसके लिए उन्होंने शारीरिक तौर पर भी खुद को मजबूत बनाए रखने के लिए कहा.

Loading...
loading...