Tuesday , April 24 2018
Loading...

राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे पर बोले वेंकैया नायडू

नई दिल्ली : पर शुक्रवार (23 मार्च) को वोटिंग हो रही है एक तरफ राज्यसभा के नए सदस्य चुनने के लिए मतदान हो रहा है तो वहीं दूसरी तरफ सदन में हंगामा थमने का नाम नहीं ले रहा है सदन का 15वां दिन भी हंगामे की भेंट चढ़ गया गुरुवार को सदन की कार्यवाही प्रारम्भ होते ही जैसे ही विपक्षी दलों ने हंगामा प्रारम्भ किया, जिस पर सभापतिनाराज हो गए  उन्होंने सदन की कार्यवाही को 26 मार्च तक के लिए स्थगित कर दिया

Image result for राज्यसभा में विपक्ष के हंगामे पर बोले वेंकैया नायडू

नाराजगी जाहिर करते हुए वेंकैया ने कहा, ‘क्या हम सदन के साथ न्याय कर रहे हैं’ नायडू ने बोला‘पिछले तीन हफ्ते से सदन में हंगामा हो रहा है लोग हमसे पूछते हैं कि सदन की कार्यवाही एक दो दिन के लिए क्यों, अनिश्चितकाल तक स्थगित की जानी चाहिए ‘ उन्होंने हंगामे के बीच कहा, “लोग कह रहे हैं कि सभापति सदन को स्थगित क्यों कर रहे हैं मैं उन सबको बताना चाहता हूं कि, मैं नहीं चाहता कि वह इस तरह की लापरवाही  हंगामा अपने सांसदों को करते हुए देंखे ‘

यह भी पढ़ें:   गुजरात: गुस्साई भीड़ का थाने पर हमला
आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा ना मिलने के कारण टीडीपी ने खुद को एनडीए साझेदारी से अलग कर लिया है (फाइल फोटो)

अब तक पेश नहीं हुआ अविश्वास प्रस्ताव
एनडीए से टीडीपी के अलग होने को लगभग एक हफ्ते का समय पूरा होने वाला है, लेकिन हंगामे के कारण अब तक पार्टी अविश्वास प्रस्ताव नहीं कर पाई है गुरुवार को भी लोकसभा में विपक्षी सदस्य अपनी विभिन्न मांगों को लेकर अध्यक्ष के आसन के पास आकर इकट्ठा हो गए, जिस वजह से सदन की कार्यवाही दिन भर के लिए स्थगित करनी पड़ी

Loading...
loading...

मातृत्व अवकाश और ग्रेच्युटी से संबंधित विधेयक पारित
राज्यसभा में भी लगभग ऐसा ही नजारा देखने को मिला, सदन की कार्यवाही प्रारम्भ होते ही हंगामे की वजह से इसे दिनभर के लिए स्थगित करना पड़ा गवर्नमेंट हालांकि सदन में मातृत्व अवकाश और ग्रेच्युटी से संबंधित विधेयक पारित करवाने में पास रही

हंगामे से नाराज होकर नायडू ने डिनर को कर दिया था कैंसिल 
बताते चलें कि एम ने राज्यसभा में हंगामे से नाराज होकर बुधवार की रात (21 मार्च) का डिनर कैंसिल कर दिया था उन्होंने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, लोकसभाध्यक्ष, नेता प्रतिपक्ष  सदन के अन्य नेताओं को बुधवार की रात (21 मार्च) डिनर पर आमंत्रित किया था, क्योंकि उन्हें उम्मीद थी कि ऐसा करने से राज्यसभा में हंगामा समाप्त हो जाएगा  सामान्य रूप से कार्य प्रारम्भ हो जाएगा लेकिन, ऐसा नहीं हुआ, जिससेनाराज हो गए  उन्होंने बुधवार का डिनर कैंसिल कर दिया था वह 19 मार्च को राज्यसभा में हंगामा समाप्त होने की उम्मीद कर रहे थे, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   सेना प्रमुख ने जताई उरी जैसे आतंकी हमले की आशंका
Loading...
loading...