Tuesday , April 24 2018
Loading...

JNU के एक प्रोफेसर ने 17 विद्यार्थियों पर दर्ज करवाई FIR

यौन उत्पीड़न के आरोपी जेएनयू प्रोफेसर को लेकर बवाल जारी है. अब JNU के एक प्रोफेसर ने 17 विद्यार्थियों के विरूद्ध FIR दर्ज कराई है. उन्होंने विद्यार्थियों पर अभद्रता करने का आरोप लगाया है.
Image result for JNU के एक प्रोफेसर ने 17 विद्यार्थियों पर दर्ज करवाई FIR

JNU के प्रोफेसर अशोक कदम ने 17 विद्यार्थियों के विरूद्ध यह FIR दर्ज करवाई है. उन्होंने विद्यार्थियों पर दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया है.

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में यौन उत्पीड़न के आरोपी जेएनयू प्रो अतुल जौहरी की गिरफ्तारी की मांग को लेकर छात्रसंघ ने सोमवार को दिन भर हंगामा किया. छात्र-छात्राओं ने वसंत कुंज थाने के बाहर भी उग्र प्रदर्शन किया. इस दौरान पुलिसवालों  विद्यार्थियों के बीच धक्कामुक्की  हाथापाई भी हुई.

प्रदर्शन के दौरान विद्यार्थियों ने पुलिस के बैरिकेड को गिरा दिया. विद्यार्थियों की मांग है कि सभी नौ शिकायतों में अलग-अलग एफआईआर दर्ज की जाए. जब उनकी मांग नहीं मानी गई तो वे धरने पर बैठ गए. जेएनयू कैंपस में दिनभर स्कूल ऑफ जीवन साइंसेज के विद्यार्थी विश्वविद्यालय प्रबंधन के समक्ष आरोपी प्रो को सस्पेंड करने की मांग करते रहे.

Image result for JNU के एक प्रोफेसर ने 17 विद्यार्थियों पर दर्ज करवाई FIR

उधर पुलिस प्रशासन का कहना है कि पुलिस  विद्यार्थियों के बीच झड़प जरूर हुई, लेकिन हाथापाई नहीं हुई. आइसा की नेता शेहला राशिद ने बोला कि यौन उत्पीड़न के आरोपी को तुरंत अरैस्ट किया जाए.

यह मामला वामपंथी  दक्षिणपंथी नहीं, बल्कि सही  गलत का है. विद्यार्थी संघ की अध्यक्ष गीता कुमारी के मुताबिक, अतुल जौहरी पर नौ छात्राओं ने यौन शोषण के आरोप लगाए हैं. उनके विरूद्धएफआईआर दर्ज हो चुकी है, इसके बावजूद जेएनयू प्रशासन ने प्रोफेसर को निलंबित नहीं किया है.
Image result for JNU के एक प्रोफेसर ने 17 विद्यार्थियों पर दर्ज करवाई FIR

यह भी पढ़ें:   भारत व सिशेल्स ने एक संशोधित समझौते पर किए हस्ताक्षर

विरोध के चलते क्लासरूम बंद 
जेएनयू में सोमवार को कक्षाएं ठप रहीं  विद्यार्थियों ने आधे दर्जन से अधिक अध्ययन केंद्रों पर ताले जड़ दिए. मामला जेएनयू प्रशासन द्वारा अलग-अलग केंद्रों से सात चेयरपर्सन  डीन को बदलने  जीवन साइंस के प्रोफेसर अतुल जौहरी के विरूद्ध यौन उत्पीड़न के आरोपों का है.विद्यार्थियों  शिक्षकों ने मिलकर इस बंद का समर्थन किया. विद्यार्थियों ने कई केंद्रों के गेट पर ताला लगाकर उन्हें सील कर दिया.

Loading...
loading...

जेएनयू शिक्षक यूनियन ने प्रारम्भ किया सत्याग्रह 
शिक्षक संघ के नेतृत्व में शिक्षकों ने कैंपस में तीन दिन के सत्याग्रह के साथ भूख हड़ताल प्रारम्भ कर दी. विद्यार्थियों का आरोप है कि कुलपति ने  मनमानी से अपने खास लोगों को काबिज करने के लिए कई केंद्रों के सात चेयरपर्सन  डीन को बदल दिया. वे जरूरी उपस्थिति को लागू करने  अपने फैसलों को जबरदस्ती थोपने के लिए हर केंद्रों में प्रमुख पदों पर अपने लोगों को गलत तरीके से भरना चाहते हैं.

Image result for JNU के एक प्रोफेसर ने 17 विद्यार्थियों पर दर्ज करवाई FIR
प्रशासन पर जौहरी को बचाने का आरोप
छात्र संघ की अध्यक्ष गीता कुमारी के मुताबिक, अतुल जौहरी पर नौ छात्राओं ने यौन शोषण के आरोप लगाए हैं. उनके विरूद्ध एफआइआर भी दर्ज हो चुकी है. इसके बावजूद जेएनयू प्रशासन ने अतुल जौहरी को निलंबित नहीं किया है. इसके उलट कुलपति समेत कई प्रशासनिक ऑफिसर उन्हें बचाने में लगे हैं.

यह भी पढ़ें:   हमले के विरोध में मुख्यमंत्री रुपाणी के घर प्रदर्शन

उन्होंने आरोप लगाया कि प्रोफेसर अतुल जौहरी के विरूद्ध शिकायत करने वाली छात्राओं को प्रशासन ने एक कमरे में बंद कर दिया. जेएनयू की अन्य छात्राओं को उनसे मिलने भी नहीं दिया गया. जब वे पीड़ित छात्राओं से मिलने की प्रयास कर रही थीं तो जेएनयू प्रशासन के सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें रोकने की प्रयास की. उन्होंने बोला कि 72 घंटे से ज्यादा का वक्त हो गया है, लेकिन उनके विरूद्ध अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है.

Image result for JNU के एक प्रोफेसर ने 17 विद्यार्थियों पर दर्ज करवाई FIR

अकादमिक माहौल बिगाड़ रहे कुछ शिक्षक : प्रशासन 
जेएनयू प्रशासन ने सत्याग्रह आंदोलन प्रारम्भ करने वाले कुछ शिक्षकों पर विद्यार्थियों को भड़काने का आरोप लगाया. रजिस्ट्रार प्रमोद कुमार की ओर से जारी बयान के मुताबिक विश्वविद्यालय में कुछ शिक्षकों के समर्थन से कुछ विद्यार्थी अकादमिक गतिविधियों को नुकसान पहुंचा रहे हैं.

वहीं, जेएनयू के प्रोफेसर अतुल जौहरी ने दावा किया कि उनके विरूद्ध लगाए गए आरोप आधारहीनहैं. उन्होंने बोला कि जरूरी उपस्थिति के पक्ष में उन्होंने खुलकर वार्ता की है, इसलिए उन पर झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...