Saturday , November 17 2018
Loading...

परीक्षाओं में स्वस्थ जीवनशैली अपनाने के लिए टिप्स

नई दिल्लीः स्कूलों में इम्तिहान प्रारम्भ हो गई है, कुछ जगहों पर एक दो दिन में बोर्ड परीक्षाएं भी प्रारम्भ होने वाली हैं। यह वह समय है जब विद्यार्थी व अभिभवावक दोनों इम्तिहान के दबाव का सामना करते हैं। विद्यार्थियों पर बेहतर प्रदर्शन करने का दबाव होता है, लेकिन इसके लिए पढ़ाई के साथ-साथ सेहत को लेकर भी संतुलित पहल करने की आवश्यकता होती है। संतुलित पहल से विद्यार्थियों के स्मरणशक्ति में इजाफा व पढ़े हुए पाठ को याद रखने में सरलता होती है।Image result for परीक्षाओं में स्वस्थ जीवनशैली अपनाने के लिए टिप्स

हिमालयन ड्रग कंपनी ने आने वाली परीक्षाओं में स्वस्थ जीवनशैली अपनाने के लिए निम्नलिखित टिप्स दिए हैं।

Loading...

नियमित व्यायाम : शारीरिक गतिविधि शैक्षणिक प्रदर्शन सुधारने के लिए जरूरी कारक है। ब्रिटिश कोलंबिया विश्वविद्यालय में हुए अध्ययन में बताया गया है कि रोजाना एरोबिक व्यायाम करने से दिमाग के उस भाग का विकास होता है, जिसमें मौखिक स्मरण व सीखने की क्षमता होती है। व्यायाम करने से दिमाग में ऑक्सीजन का प्रवाह होता है जिससे विद्यार्थियों के स्मरण व सोचने की क्षमता भी बेहतर होती है।

loading...

स्वस्थ आहार : स्वस्थ आहार को अपनी दिनचर्या में शामिल करना एक अच्छी आदत है, लेकिन इम्तिहान के समय में इसकी महत्ता व बढ़ जाती है। इम्तिहान के समय सब्जियों, फलों, साबुत अनाज, दूध, मछली का सेवन को एक अच्छा आहार माना जाता है। इससे अच्छा प्रदर्शन करने के लिए विद्यार्थियों की सभी पोषक जरूरतें पूरी होती हैं। दिमागी गतिविधि व स्मरण की क्षमता विकास के लिए पोषक से भरपूर आहार की आवश्यकता होती है। इसके साथ ही स्वस्थ खान पान की शैली हमें बीमारियों से भी बचाती है, जिससे इम्तिहान के समय विद्यार्थी अपना पूरा ध्यान पढ़ाई में लगा सकते हैं।

प्रतिदिन के आहार में उचित आयुर्वेद (हर्ब) को शामिल करना : आयुर्वेद व आधुनिक अध्ययन के अनुसार, ब्रह्मी स्मृति, बुद्धिमत्ता व सतर्कता को बढ़ाता है। यह एक ताकतवर मानसिक टॉनिक है जो स्मृति बढ़ाने, सोच में स्पष्टता लाने का दावा करता है। इसके प्रतिदिन प्रयोग से मानसिक दक्षता को बढ़ावा मिलता है जिससे विद्यार्थियों को उनका लक्ष्य पाने में मदद मिलती है।

पर्याप्त नींद लेना : इम्तिहान के दौरान सबसे महत्वपूर्ण चीजों में पर्याप्त नींद लेना शामिल है, जिसमें अक्सर विद्यार्थी लापरवाही बरतते हैं। इम्तिहान की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों को अच्छे मानसिक व शारीरिक सेहत के लिए कम से कम 6 से 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए। हार्वर्ड विश्वविद्यालय में किए गए एक शोध से नींद व स्मृति के बीच बहुत ज्यादा मजबूत संबंध होने का पता चला था। शोध के अनुसार जो विद्यार्थी पर्याप्त नींद लेते हैं, उनके ग्रेड कम नींद लेने वाले विद्यार्थियों की तुलना में ज्यादा थे।

इन साधारण उपायों को अपनाने व मन लगाकर पढ़ाई करने से विद्यार्थी आने वाली परीक्षाओं में निश्चित ही अच्छी सफलता हासिल कर पाएंगे।

Loading...
loading...