Loading...

पाकिस्तानी सैन्य शिविर में आत्मघाती हमले में 11 मरे

पेशावर: पाकिस्तान के पश्चिमी बलूचिस्तान प्रांत में कम से कम चार अर्धसैनिकों की उस समय मौत हो गई जब कुछ बंदूकधारियों ने उनके वाहन पर हमला कर दिया। पुलिस ने बताया कि क्वेटा में फ्रंटियर कोर के कर्मियों को नियमित गश्त के दौरान निशाना बनाया गया। क्वेटा के उप महानिरीक्षक (डीआईजी) रज्जाक चीमा ने बताया कि हमलावरों ने एफसी अधिकारियों के वाहन को निशाना बनाया व हमला करने के बाद वहां से फरार हो गए। चीमा ने कहा, ‘‘हमले में चार सुरक्षा कर्मियों की मौत हो गई। ’’Image result for पाकिस्तानी सैन्य शिविर में आत्मघाती हमले में 11 मरे

हमले की अभी तक किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली है, लेकिन बलूच राष्ट्रवादी तथा तालिबान आतंकी प्रांत में अक्सर सुरक्षा कर्मियों को निशाना बनाते रहे हैं। बलूचिस्तान के गवर्नर मोहम्मद अचकजई ने हमले की निंदा करते हुए कानून प्रवर्तन एजेंसियों को जल्द से जल्द आरोपियों को अरैस्ट करने को बोला है। क्वेटा के जरघून मार्ग पर पिछले माह हुए एक आत्मघाती हमलावर के पुलिस के ट्रक में अपनी बाइक घुसाने से कम से कम सात लोगों की मौत हो गई थी।

यह भी पढ़ें:   चाइना इकोनॉमिक कॉरिडोर (सीपीईसी) को लेकर की पहल

पाकिस्तानी सैन्य शिविर में आत्मघाती हमले में 11 मरे
इससे पहले बीते 3 फरवरी को पाक के खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के स्वात जिले में एक सैन्य शिविर में हुए आत्मघाती हमले में सैन्य अधिकारियों समेत 11 सैनिकों की मौत हो गई थी, जबकि 13 अन्य लोग घायल हो गए थे। इंटर सर्विसेज पब्लिक रिलेशंस के बयान के अनुसार, यह हमला शनिवार (3 फरवरी) को स्वात के कबाल कस्बे में स्थित सैन्य शिविर के खेल परिसर में हुआ था।

Loading...
loading...

हमला उस समय हुआ जब सैनिक वॉलीबाल खेल रहे थे। घायलों को कबाल अस्पताल में भर्ती किया गया है। हमले की जिम्मेदारी आतंकी समूह तहरीक-ए-तालिबान ने ली है। पाकिस्तानी पीएम शाहिद खकान अब्बासी ने आत्मघाती हमले की निंदा की है। उन्होंने बोला कि कोई भी कायराना हमला आतंकवाद को समाप्त करने के पाक के प्रयत्न को रोक नहीं सकता। अब्बासी के अनुसार, “हमारी लड़ाई आतंकवाद की अंतिम जड़ को उखाड़ फेंकने तक जारी रहेगी। “

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   70 वर्षीय पायलट समेत 5 लोगों की मौत
Loading...
loading...