Loading...

भाई की पिटाई से नाराज दुल्हन ने विवाह तोड़ दी

लखनऊ में नगराम के कलंदरखेड़ा में सोमवार रात शराब पीकर हंगामा कर रहे बारातियों को समझाने पहुंचे भाई की पिटाई से नाराज दुल्हन ने विवाह तोड़ दी. परिवारीजनों ने दुल्हन को बहुत समझाया लेकिन वह नहीं मानी. रातभर दूल्हा व वर पक्ष के लोग माफी मांगते रहे. मंगलवार प्रातः काल पुलिस भी वधू पक्ष के घर आ गई, लेकिन दुल्हन टस से मस न हुई.Image result for दुल्हन ने विवाह तोड़ दी

अंतत: वर पक्ष को आयोजन में खर्च रकम व सामान लौटाकर दुल्हन के बगैर लौटना पड़ा.एसओ संतोष कुमार सिंह ने बताया कि कलंदरखेड़ा गांव निवासी दशरथ की बेटी निशा की विवाह उन्नाव के पाठकपुर में रहने वाले शिवप्रसाद के बेटे वीरेंद्र से होनी थी. सोमवार देर शाम वीरेंद्र धूम-धाम व बैंड-बाजे के साथ नाचते-गाते हुए निशा के घर पहुंचा.

बारात जैसे ही निशा के घर के दरवाजे पर पहुंची, शराब पीकर डांस कर रहे युवकों ने हुल्लड़ प्रारम्भ कर दिया. इस दौरान आकस्मित कहीं से एक पत्थर आकर दूल्हे के भाई धर्मेंद्र के सिर पर लगा. धर्मेंद्र को घायल देख नशे में धुत युवक भड़क उठे. उन्होंने घर के दरवाजे पर खड़े लोगों से गाली-गलौज और मारपीट की.
आगे पढ़ें
पुलिस ने की सुलह कराने की प्रयास
कुछ ही देर में माहौल तनावपूर्ण हो गया व वर-वधू पक्ष आपस में भिड़ गए. किसी तरह से दोनों परिवार के लोगों को समझाकर शांत कराकर द्वाराचार की रस्म प्रारम्भ कराई गई. हालांकि, रस्म के दौरान ही दोनों पक्ष में फिर से विवाद हो गई. गाली-गलौज होने पर दुल्हन के भाई सुरेश ने बीच-बचाव करने की प्रयास की तो नशे में धुत युवकों ने उन्हें पीट दिया.

यह भी पढ़ें:   लंबित मुकदमों को लेकर प्रदेश गवर्नमेंट गंभीर
Loading...
loading...

भाई की पिटाई का पता चलते ही निशा ने विवाह से इन्कार कर दिया. उसकी घोषणा सुनते ही परिवारीजन व वर पक्ष के लोग सन्न रह गए. निशा को उसके माता-पिता और भाई ने बहुत ज्यादा समझाया लेकिन वह नहीं मानी. इस बीच किसी ने विवाह में मारपीट की सूचना पुलिस को दे दी.

मौके पर पहुंची पुलिस ने भी दोनों परिवारों को मिल बैठकर सुलह कराने की प्रयास की. हालांकि, निशा किसी भी तरह से विवाह के लिए तैयार नहीं हुई. रातभर उसे मनाने की कोशिशें चलती रहीं. मंगलवार प्रातः काल तक निशा अपने निर्णय पर टिकी रही. इसके बाद पुलिस की मौजूदगी में दोनों पक्ष में विवाह तोड़ने का समझौता करा दिया गया. विवाह के आयोजन पर खर्च रकम व सामान लौटाने के बाद शिवप्रसाद बरात लेकर लौट गए. एसओ ने बताया कि शिवप्रसाद ने निशा के पिता को 80 हजार रुपये दिए.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   उत्तर प्रदेश में सबसे ठंडा है आगरा
Loading...
loading...