Loading...

सुप्रीम न्यायालय में एक अजोबो गरीब जनहित याचिका हुई दायर

देश में अब कुछ भी संभव है, आश्चर्य कुछ नहींरहा। सुप्रीम न्यायालय भी बदलती संसार से अछूता नहीं है ऐसे में जनसंख्या नियंत्रण को लेकर राष्ट्र के सबसे बड़े न्याय मंदिर सुप्रीम न्यायालय में एक अजोबो गरीब जनहित याचिका दायर हुई जिसमे ये बोला गया हैImage result for सुप्रीम न्यायालय में एक अजीबो गरीब जनहित याचिका हुई दायर

कि सरकारी सुविधाओं का फायदा केवल उन्ही लोगों को दिया जाए जिनके दो ही बच्चे हैं। इस याचिका में बोला गया है कि, अगर किसी के दो से ज्यादा बच्चे हैं तो उनको सरकारी योजनाओं व सुविधाओं से वंचित रखा जाए। साथ ही ऐसे लोगों को दंडित करने का प्रावधान भी किया जाए जो दो बच्चों की पॉलिसी के विरूद्ध ज्यादा बच्चे पैदा करते हैं। याचिका अनुपम बाजपेयी नामक आदमी द्वारा दायर कि गई है।

यह भी पढ़ें:   भारत, अफगानिस्तान ने द्विपक्षीय संबंधों की समीक्षा की

याचिका में बाजपेयी ने बोला कि जनसंख्या की वृद्धि से गरीबी बढ़ती जा रही है। चाइना का उदाहरण देते हुए बोला कि वहां जनसंख्या नियंत्रण से स्थिति सुधर गई है। लिहाजा यहां भी तरीका करने महत्वपूर्ण हैं।

Loading...
loading...

अनुपम ने याचिका में लिखा है कि जंगल कम होते जा रहे है, कंक्रीट का जंगल बढ़ने से कृषि योग्य भूमि घट रही है, प्राकृतिक संसाधन कम होते जा रहे है, ग्लोबल वार्मिंग बढ़ रही है। साथ ही साफ हवा व पानी की कमी होती जा रही है। ये सब जनसंख्या में बेतहाशा बढ़ोतरी के कारण हो रहा है इसलिए इस पर अंकुश लगाया जाना महत्वपूर्ण है।

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   35 वर्ष बाद इन मतदाताओं को मिला चुनने का मौका
Loading...
loading...