Loading...

आतंकवादियों का सबसे बड़ा समर्थक पाक इस समय धर्मसंकट में फंसा

इस्लामाबाद: आतंकवादियों का सबसे बड़ा समर्थक पाक इस समय धर्मसंकट में फंसा नज़र आ रहा है, एक ओर जहां वो खुद आतंकवादियों को पनाह देता है वहीं दूसरी ओर हिंदुस्तान व अमेरिका के दबाव में आकर उसने आतंकवादियों के विरूद्ध एक अध्यादेश को मान्य कर दिया है।Image result for आतंकवादियों का सबसे बड़ा समर्थक पाक इस समय धर्मसंकट में फंसा

संयुक्त देश सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) द्वारा प्रतिबंधित व्यक्तियों व लश्कर-ए-तैयबा, अल-कायदा तथा तालिबान जैसे संगठनों पर लगाम लगाने के लिए जारी हुए एक अध्यादेश पर पाकिस्तानी राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने हस्ताक्षर किये हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार यह अध्यादेश, आतंकवाद निरोधक अधिनियम की एक धारा में संशोधन कर अधिकारीयों को आतंकियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही करने व उनकी सम्पत्तियां जब्त करने का अधिकार प्रदान करता है।

यह भी पढ़ें:   डोनाल्ड ट्रंप की बेटी आएंगी भारत

गृह मंत्री, वित्त मंत्री व विदेश मंत्री के साथ-साथ एनएसीटीए की आतंकवाद वित्तपोषण विरोधी इकाई इस अभियान में एक साथ कार्य कर रही है, इस बात की जानकारी खुद राष्ट्रीय आतंकवाद निरोधक प्राधिकरण ने दी है। हालांकि इस कानून के बारे में अधिकारीयों ने कोई विस्तृत जानकारी देने से इंकार कर दिया है। ऑफिसर ने कहा, ‘‘संबंधित मंत्रालय इसे अधिसूचित करेगा व इस पर रिएक्शन देगा। ’’

Loading...
loading...

आपको बता दें कि, इस रिपोर्ट में अल-कायदा, तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्तान, लश्कर-ए-झांगवी, जमात-उद-दावा, फलाह-ए-इंसानियत फाउंडेशन (एफआईएफ), लश्कर-ए-तैयबा सहित अन्य आतंकवादी दलों को प्रतिबंधित सूचि में रखा गया है। जिससे जमात-उद-दवा के आतंकवादी मुखिया हाफिज सईद को बड़ा झटका लगा है। पाकिस्तानी राष्ट्रपति के इस कदम से आतंक के आकाओं में जरूर दहशत का माहौल है, लेकिन पाकिस्तानी गवर्नमेंट भी किसी अनहोनी की संभावना से खौफजदा है, क्योंकि आतंकवादी अब पाक पर भी हमला कर सकते हैं।

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   गर्भपात कांड के बाद अमेरिकी सांसद ने दिया इस्तीफा
Loading...
loading...