Loading...

वास्तविकता के धरातल पर चाइना हिंदुस्तान से कही आगे

भारत भले ही कितनी ही बातें कर ले लेकिन वास्तविकता के धरातल पर चाइना हिंदुस्तान से कही आगे है। अमेरिका की नक्शे क़दम पर भारतीय ड्रीम व न्यू इंडिया के लिए योजनाए जरूर तैयार कर ली गई है मगर चाइना से आगे निकला सोच लेने जितना सरल नहीं है। हिंदुस्तान में 2014 से पूर्ण बहुमत के साथ अस्तित्व में आई भाजपा गवर्नमेंट ने न्यू इंडिया के का जो सपना देखा है उसके साथ ही न्यू इंडिया व न्यू चाइना दोनों बढ़ रहे है मगर दोनों के बीच का फ़ासला बीते चार वर्ष में लगभग 50 वर्ष व बढ़ गया है, व इस रेस में चाइना फ़िलहाल 50 वर्ष आगे है। जाने तथ्यों को।Image result for भारतीय ड्रीम व न्यू इंडिया के लिए योजनाए

चाइनीज ड्रीमलाइनर: बोइंग व एयरबस संसार की सभी अर्थव्यवस्थाओं को लंबी उड़ान देने का कार्य कर रही है। वैश्विक स्तर पर जिस तरह चाइना एक आर्थिक शक्ति बनकर उभरा है आने वाले दिनों में उसकी भी निर्भरता बोइंग व एयरबस पर बनी रहती। हिंदुस्तान को अभी इस एरिया में पहल करने में कई दशक लग सकते हैं क्योंकि फिल्हाल वह एक हेलिकॉप्टर तक के लिए अन्य राष्ट्रों पर निर्भर है।
मेड इन चाइना- इंडस्ट्री-4 : राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने चाइना की कमान संभालने के बाद 2015 में चाइना को इंडस्ट्री-4 तमगा दिलाने के लिए मेड इन चाइना-2025 की आरंभ की है जिसके तहत वह मैन्यूफैक्चरिंग हब को भूलकर महज उत्कृष्ट उत्पादन में शरीक होगा। हिंदुस्तान ने 2015 में मेक इन इंडिया की आरंभ की जिसके चलते वह चाइना की स्थान संसार का मैन्यूफैक्चरिंग हब बन सके।

यह भी पढ़ें:   जम्मू व कश्मीर के जेल महानिदेशक एस के मिश्रा को पद से हटाया
Loading...
loading...

युआन बना ग्लोबल करेंसी: वर्ष 2016 में युआन ने अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा खज़ाना की करेंसी बास्केट में बतौर अंतर्राष्ट्रीय करेंसी अपनी स्थान बना ली है। अब उसे डॉलर पर निर्भर होने की आवश्यकता नहीं है क्योंकि उसकी करेंसी खुद डॉलर के बराबर अंतर्राष्ट्रीय मार्केट में खड़ी है।
OBOR: OBOR की 2017 में स्थापना कर चाइना ने पहली बार कोई ऐसी प्रयास की है जिसका प्रभाव अगले सैकड़ों वर्ष तक पूरी संसार पर पड़ना तय है। OBOR की स्थापना होने के बाद उसके लिए अपना मैन्यूफैक्चर्ड माल पूरे यूरोप व एशिया में वितरित करना सरल व अधिक लाभकारी हो जाएगा।

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   भोपाल गैंगरेप पीड़िता ने कहा, 'दोषियों को चौराहे पर फांसी देनी चाहिए'
Loading...
loading...