Loading...

5300 पद भर्ती के लिए हो जाएंगे खाली

यूपी गवर्नमेंट ने लेखपालों के रिक्त पदों पर भर्ती की कार्यवाही उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग (यूपीएसएसएससी) से कराने का निर्णय किया है. अब तक यह कार्यवाही राजस्व परिषद व जिलाधिकारी के स्तर से होती थी.Image result for लेखपालों के रिक्त पदों पर भर्ती की

प्रदेश में सपा गवर्नमेंट ने राजस्व लेखपालों की भर्ती लिखित इम्तिहान और साक्षात्कार के आधार पर कराई थी. लिखित इम्तिहान राजस्व परिषद के निर्देशन में टीसीएस ने कराई थी. साक्षात्कार जिलाधिकारियों ने लिए थे. लिखित इम्तिहान और साक्षात्कार के अंकों के आधार पर लेखपालों का चयन हुआ था.

योगी गवर्नमेंट ने भर्ती में पारदर्शिता के लिए समूह ‘ग’ केपदों पर साक्षात्कार की व्यवस्था समाप्त कर दी है. राजस्व परिषद ने नयी व्यवस्था में लेखपालों के रिक्त पदों पर भर्ती के लिए शासन से सहमति मांगी थी व चयन प्रक्रिया किस तरह आगे बढ़ाई जाए, इस पर फैसला के लिए आग्रह किया था. यह फैसला CM योगी आदित्यनाथ के स्तर से होना था.

यह भी पढ़ें:   BHEL में निकली बंपर भर्ती, जल्द करें आवेदन
Loading...
loading...

शासन के एक वरिष्ठ ऑफिसर ने बताया कि गवर्नमेंट ने लेखपाल भर्ती की कार्यवाही अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के माध्यम से कराने पर सहमति दी है. प्रमुख सचिव राजस्व सुरेश चंद्रा ने बताया कि शासन से राजस्व परिषद को इस विषय में आदेश भेजा जा रहा है.

5300 पद भर्ती के लिए हो जाएंगे खाली
जून तक लेखपालों के करीब 3500 पद खाली हो रहे हैं. इसके अतिरिक्त लेखपालों की राजस्व निरीक्षक के पद पर प्रस्तावित पदोन्नति से इस बीच करीब 1800 पद खाली होने की आसार है. इस तरह करीब 5300 पदों की रिक्ति पर भर्ती कराई जा सकती है.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
यह भी पढ़ें:   ग्रामीण स्तर पर युवा गतिविधि एवं खेलों को बढ़ावा देने के लिए सरकार ने कमल क्लब का गठन किया है: मुख्यमंत्री 
Loading...
loading...