Loading...

गांगोली ने जीता अपना पांचवां राष्ट्रीय खिताब

मुंबई: कर्नाटक के किशन गांगोली ने रविवार को दृष्टिबाधित राष्ट्रीय ‘ए’ शतरंज चैम्पियनशिप खिताब पर पांचवीं बार कब्जा जमाया। गुजरात के अश्विन मकवाना व ओडिशा के सौंदर्य कुमार मुख्य क्रमश: दूसरे व तीसरे जगह पर रहे। 13 राउंड के समाप्त होने के बाद गांगोली (रेटिंग 1996) ने 10.5 अंक हासिल किए। मकवाना (रेंटिंग 1744) ने 9.5 अंक अपने हिस्से लिए। सौंदर्य (रेटिंग 1753) ने नौ अंक अपने खाते में डाले।Image result for गांगोली ने जीता अपना पांचवां राष्ट्रीय खिताब

महाराष्ट्र के आर्यन जोशी को 8.5 अंक मिले। वह चौथे जगह पर रहे। ओडिशा के शुभेंदु कुमार पात्रा 7.5 अंकों के साथ पांचवें जगह पर रहे। गांगोली 13वें राउंड में सौंदर्य के भाई प्राचुर्य के सामने थे। प्राचुर्य ने उन्हें कड़ी प्रतिस्पर्धा दी व मैच ड्रॉ पर खत्म हुआ।

इस चैम्पियनशिप के शीर्ष-5 खिलाड़ी आने वाली वर्ल्ड टीम चैम्पियनशिप में इंडियन टीम का प्रतिनिधित्व करेंगे जो बुल्गारिया में इसी वर्ष जुलाई में आयोजित की जाएगी। वहीं शीर्ष-3 जूनियर (अंडर-20) खिलाड़ी इसी वर्ष पोलैंड में अगस्त में होने वाली वर्ल्ड जूनियर चैम्पियनशिप में भाग लेंगे। गत चैम्पियन गांगोली ने दृष्टिबाधित राष्ट्रीय शतरंज टूर्नामेंट खिताब जीता।

यह भी पढ़ें:   भारत के साथ खेलक बेहतर टीम बन सकती है श्रीलंका

दृष्टिबाधित शतरंज खिलाड़ियों से मिले थे विश्वनाथन आनंद
इससे पहले दिन हिंदुस्तान के महान शतरंज खिलाड़ी विश्वनाथन आनंद ने 14 दृष्टिबाधित शतरंज खिलाड़ियों से मुलाकात की, जो यहां इस चैम्पियनशिप में भाग ले रहे थे। पांच बार के विश्व विजेता आनंद ने बोला कि वह इन बच्चों की प्रगति को देख रहे हैं व इनके उत्साह तथा प्रतिबद्धता को देखते हुए दंग हैं।

Loading...
loading...

आनंद ने बताया कि उन्होंने इन खिलाड़ियों से उनके खेल के बारे में बात की। एक बयान के मुताबिक आनंद ने कहा, “दृष्टिबाधित खिलाड़ियों के लिए मेरे दिल में बहुत ज्यादा सम्मान है, क्योंकि इनकी याददाश्त शानदार रहती है साथ ही यह लोग खेल को अच्छे से इमेजिन कर प्रतिस्पर्धा करते हैं। ”

यह भी पढ़ें:   कोहली ने BCCI के सामने उठाया खिलाड़ियों की सैलरी का मुद्दा

उन्होंने कहा, “मुझे उम्मीद है कि दृष्टिबाधित शतरंज को हिंदुस्तान में वो सम्मान मिलेगा जिसका वो हकदार है। ” उन्होंने कहा, “मैं इन सभी खिलाड़ियों को बधाई देना चाहता हूं व उन्हें आने वाली विश्व चैम्पियनशिप में अच्छा खेलते देखना चाहता हूं। ”

सचिन तेंदुलकर ने भी किया दृष्टिबाधित शतरंज प्रतियोगिता का समर्थन
महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने गुरूवार को दृष्टिबाधितों के लिए राष्ट्रीय शतरंज चैंपियनशिप का समर्थन किया। तेंदुलकर ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा था- ‘‘@एआईसीएफबी_आईएनएस दृष्टिबाधियों के लिए राष्ट्रीय शतरंज चैंपियनशिप 2018 (मुंबई) की शुभकामनाएं। (तीन से 11 फरवरी), आल द बेस्ट। #लेट्सप्ले। ’’

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...