Loading...

एक बार फिर विपक्ष के निशाने पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत

आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत एक बार फिर विपक्ष के निशाने पर है व इस बार उनके सेना पर दिए विवादित बयान ने विपक्ष को ये मौका दिया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत के रविवार को दिए एक बयान पर कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार प्रातः काल वीडियो शेयर करते हुए उन पर हमला बोला। हालांकि, संघ की ओर से इस बयान पर सफाई में बोला गया हैImage result for एक बार फिर विपक्ष के निशाने पर आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत

कि संघ प्रमुख के बयान को गलत तरीके से प्रस्तुत किया गया है। कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष ने सोमवार को एक वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा कि संघ प्रमुख ने अपने सम्बोधन में सभी हिंदुस्तानियों का अपमान किया है, ये हर उस इंसान का अपमान है जिन्होंने राष्ट्र के लिए अपनी जान दी है। राहुल ने लिखा कि ये हमारे तिरंगे का अपमान है। राहुल ने इस बयान को शर्मनाक बताया व माफी मांगने की बात कही।

यह भी पढ़ें:   शिव की नगरी काशी में गंगा की हालत बेहद बेकार

राहुल व अन्य विपक्षियों के इस मुद्द्दे पर अलग अलग बयानों के बाद संघ की ओर से इस बयान पर सफाई आई है। RSS प्रवक्ता मनमोहन वैद्य ने बोला है कि संघ प्रमुख के बयान को गलत तरीके से प्रस्तुत किया गया है। वैद्य ने बोला कि ‘भागवत जी ने बोला था कि हालात आने पर तथा संविधान द्वारा मान्य होने पर इंडियन सेना को सामान्य समाज को तैयार करने के लिए 6 महीने का समय लगेगा तो संघ स्वयंसेवकों को इंडियन सेना 3 दिन में तैयार कर सकेगी, कारण स्वयंसेवकों को अनुशासन का एक्सरसाइज रहता है। मनमोहन वैद्य बोले कि यह सेना के साथ तुलना नहीं थी पर सामान्य समाज व स्वयंसेवकों के बीच में थी, दोनों को इंडियन सेना को ही तैयार करना होगा।

यह भी पढ़ें:   राष्ट्रीय महिला नीति मे हुआ संशोधन, ये हैं नई नीतियाँ...
Loading...
loading...

गौरतलब है कि मोहन भागवत ने बोला था कि राष्ट्र को अगर हमारी आवश्यकता पड़े व हमारा संविधान व कानून इजाजत दे हम तुरंत तैयार हो जाएंगे, सेना को तैयार होने में 6-7 महीने लग जाएंगे, लेकिन हम दो से तीन दिन में ही तैयार हो जाएंगे, क्योंकि हमारा अनुशासन ही ऐसा है। उन्होंने ये बात बिहार के मुज्जफरपुर में स्वयंसेवकों को संबोधित करते कही थी।

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...