Loading...

बेटी कहकर जॉब दिलाने गए पिता ने किया बलत्कार

बेटी कहकर जॉब दिलाने लेकर गए थे, मेरे पिता की आयु के थे मुझे क्या मालूम था कि वे मेरी आबरू लूट लेंगे. मेवात के नूंह की निवासी दुष्कर्म पीड़िता ने न्यायालय में याचिका दाखिल करते हुए इंसाफ की गुहार लगाई है.

Image result for बलत्कार

पीड़िता ने बोला कि उसकी लड़ाई में मां साथ थी, परंतु इतना दबाव बनाया गया कि मां ने सुसाइड कर लिया. भाई व परिवार के लोगों पर झूठे केस दर्ज होने लगे. पीड़िता ने बोला कि उसे पुलिस पर बिलकुल भरोसा नहीं है, इसलिए इस मामले की जांच स्टेट अपराध ब्रांच को सौंपी जाए. न्यायालय ने याचिका पर हरियाणा सरकार, डीजीपी, डीसीपी, आईजी रेवाड़ी रेंज, एसपी नूंह और अन्य को नोटिस जारी कर जवाब मांग लिया है.

यह भी पढ़ें:   लड़की से हुए गैंगरेप और बर्बर हत्या के चलते शिमला की शांत वादियों में फुट रहा लोगों का गुस्सा

पीड़िता ने याचिका दाखिल करते हुए वकील एमडी खान के माध्यम से बताया कि वह नूंह के एक छोटे से गांव में रहती है. जॉब व सुरक्षा का भरोसा देकर आरोपी उसे अपने साथ अलवर ले गए. वहां होटल में ले जाकर दुष्कर्म किया व लगातार दुष्कर्म करते रहे. इसी बीच उनसे बचते बचाते पीड़िता ने मां को फोन कर दिया.
आगे पढ़ें
आरोपियों के दबाव में मां ने किया सुसाइड
फिर मां व भाई उसे लेने अलवर आ गए. इसके बाद पुलिस को शिकायत दी गई, लेकिन पुलिस ने एफआईआर दर्ज करने के अतिरिक्त कोई कार्रवाई नहीं की. याची ने बोला कि आरोपियों की राजनीतिक पहुंच के कारण ही उनको न तो अरैस्ट किया गया व न ही उनके विरूद्ध कोई कार्रवाई की गई.

यह भी पढ़ें:   राहुल गांधी - चुनाव प्रचार के दौरान पीएम मोदी ने करप्शन का मामला नहीं उठाया
Loading...
loading...

उस पर व उसकी मां पर लगातार दबाव बनाया जाने लगा. इसी के चलते मां ने आत्महत्या कर ली. बावजूद इसके पीड़िता ने पराजय नहीं मानी तो पीड़िता के भाई केखिलाफ झूठी एफआईआर बना दी गई. पीड़िता ने बोला कि उसने हर स्तर पर रिप्रजेंटेशन देकर देख ली है लेकिन उसे कहीं से इंसाफ नहीं मिला.

हैरत की बात तो यह रही कि आरोपी अक्सर बेखौफ होकर थाने में ही घूमते नजर आते थे परंतु उनके विरूद्ध कोई कार्रवाई नहीं हुई.

Click Here
पढ़े और खबरें
Visit on Our Website
Loading...
loading...